कैसे पहचानें खोया असली है या नकली, मिठाई को खाने से पहले ऐसे करें चेक delhi technical hindi blog

कैसे पहचानें खोया असली है या नकली, मिठाई को खाने से पहले ऐसे करें चेक delhi technical hindi blog

Diwali 2019: दिवाली का त्यौहार आते ही लोगों में हर्षोल्लास का माहौल बढ़ जाता है. हर तरफ रोशनी और घरों में बनी मिठाईयां इस त्यौहार में चार चांद लगा देते हैं. इस साल दिवाली 27 अक्टूबर को है. आमतौर पर यह त्योहार अक्टूबर या नवंबर में ही आता है. दिवाली पांच दिनों के त्योहारों का समूह है.

Diwali 2019: दिवाली का त्यौहार आते ही लोगों में हर्षोल्लास का माहौल बढ़ जाता है. हर तरफ रोशनी और घरों में बनी मिठाईयां इस त्यौहार में चार चांद लगा देते हैं. इस साल दिवाली 27 अक्टूबर को है. आमतौर पर यह त्योहार अक्टूबर या नवंबर में ही आता है. दिवाली पांच दिनों के त्योहारों का समूह है.

इन पांच दिनों में धनतेरस (Dhanteras), छोटी दिवाली (Chhoti Diwali), बडी दिवाली (Badi Diwali), गोवर्धन पूजा (Govardhan Pooja) और भाई दूज (Bhai Dooj) आते हैं. दिवाली को खुशियों का त्योहार है. माना जाता है कि दिवाली के दिन भगवान श्री रामचन्द्र 14 वर्षों का बनवास काट कर अयोध्या लौटे थे. इस दिन अयोध्या नगरी को दुल्हन की तरह सजाया गया था. भगवान रामचंद्र के स्वागत में तब से दीपोत्सव कर इस त्योहार को मनाया जाता है.

कोई भी त्योहार बिना मिठाई के नहीं मनाया जाता है. दिवाली के मौके पर ज्यादातर लोग घरों में ही मिठाईयां बनाते हैं, लेकिन मिठाईयां चाहे घर पर बनाएं या बाहर से खरीदकर लाएं, ज्यादातर मिठाईयों में खोया डाला जाता है. आप बड़े आराम से मिठाई खाते हैं लेकिन क्या आपको पता है कि त्योहारी सीजन में मिठाईयों में होने वाली मिलावट आपके लिए नुकसानदायक हो सकती है.

त्योहारों में मिठाईयों को बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाले खोया में मिलावट आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकती है. तो क्या आप भी जानना चाहते हैं नकली और असली खोया में क्या फर्क होता है. यहां हम बता रहे हैं कि कैसे नकली खोया से बनी मिठाई को कैसे पहचानें…

खोया असली है या नकली पहचानें ऐसे-

  1. नकली मावे को परखने के लिए पानी में डालकर फेंटने से वह दानेदार टुकडों में अलग हो जाएगा.
  2. थोड़ा मावा आप खाकर देखिए अगर असली होगा तो मुंह में नहीं चिपकेगा जबकि नकली मावा चिपक जाएगा.
  3. हथेली पर खोया को लेकर उसकी गोली बनाएं. अगर यह फटने लग जाए तो समझिए मावा नकली है या इसमें मिलावट की गई है.
  4. मावा या खोया को अपने अंगूठे के नाखून पर रगड़ें. अगर यह असली है तो इसमें से घी की महक आएगी.
  5. असली मावे को खाने पर कच्चे दूध जैसा स्वाद आएगा.
  6. मावे में थोड़ी चीनी डालकर गरम करें। अगर ये पानी छोड़ने लगे तो यह नकली खोया है.
  7. 2 ग्राम मावा का 5 मिलीलीटर गरम पानी में घोल लें और इसे ठंडा होने दें. ठंडा होने के बाद इसमें आयोडीन सोलूशन डालें। अगर खोया नकली होगा तो इसका रंग नीला हो जाएगा.

जानें नकली खोया खाने के नुकसान-

  1. अगर नकली खोया का सेवन 4 से 6 बार कर लिया जाय तो किडनी भी फेल हो सकती है. यहां तक कि नकली खोये से कैंसर जैसी घातक बीमारी होने का भी खतरा हो सकता है.
  2. नकली खोये में यूरिया समेत साबुन के प्रोडक्ट मिले होते हैं. इसे खाने से उल्टी,दस्त और पेट दर्द जैसी दिक्कतें हो सकती हैं. साथ ही इसका सीधा असर लीवर और फेफड़ा पर भी पड़ सकता है.
Summary
Review Date
Reviewed Item
कैसे पहचानें खोया असली है या नकली, मिठाई को खाने से पहले ऐसे करें चेक delhi technical hindi blog
Author Rating
51star
1star1star1star1star

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *